Homeराज्य चुनेंउत्तराखंडरिपब्लिक डे पर युवाओं को तोहफा, देहरादून के करियर गाइड व एकेडमिक...

रिपब्लिक डे पर युवाओं को तोहफा, देहरादून के करियर गाइड व एकेडमिक एक्सपर्ट ने शुरू की IAS-PCS की फ्री कोचिंग

 

देहरादून-गणतंत्र दिवस पर उत्तराखंड के युवाओं के लिए खुशखबरी है क्योंकि जो युवा सरकारी तैयारी जिसमें आईएएस और पीसीएस बनने का सपना वह देख रहे हैं उन्हें निशुल्क ट्रेनिंग देने के लिए करियर गाइड डॉ अफरोज इकबाल तैयार हैं.

एक भारत श्रेष्ठ भारत एवं सबका साथ सबका विकास की संकल्पना लिए हुए यह कार्यक्रम काफी लोकप्रिय हो रहा है क्योंकि डा अफ़रोज़ इकबाल विद्यार्थियों का करियर काउंसलिंग भी उत्साह के साथ करते हैं।

उत्तराखण्ड सरकार , अल्पसंख्यक आयोग के एकेडमिक एक्सपर्ट , कैरियर गाइड डा अफ़रोज़ एकबाल के नाम से मशहूर एसोसिएट प्रोफेसर, समाजशास्त्र विभाग, डा अफ़रोज़ एकबाल जो एस डी एम पी जी कॉलेज, डोईवाला, देहरादून में कार्यरत हैं।

माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी जी द्वारा 18 दिसंबर को उद्घाटन के पश्चात विद्यार्थियों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराई जा रही है। जिसमे काफी विद्यार्थी उत्साह के साथ भाग ले रहे हैं तथा अपनी तैयारी सही मार्गदर्शन के साथ कर रहे हैं

डा अफ़रोज़ इकबाल ने मुख्य परीक्षा के विषय के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इसमें निबंध 250 अंक के होते हैं। साथ ही सामान्य अध्ययन के चार पेपर होते हैं, प्रत्येक पेपर 250 अंक का होता है।अर्थात कुल अंक सामान्य अध्ययन के 1000 अंकों के होते हैं। इसके साथ ही एक वैकल्पिक विषय रखना होता है। वैकल्पिक विषय का अर्थ है कि कोई भी विद्यार्थी एक विषय वो अपनी मर्जी से चुन कर रख सकता है। वो विषय जरूरी नहीं है कि उसमे ग्रेजुएशन किया हो । जिस विषय में विद्यार्थियों को सहूलत हो वो विषय का चयन कर सकता है। इस वैकल्पिक विषय के दो पेपर होते हैं जो 250 अंक के प्रत्येक पेपर के होते हैं अर्थात 500 अंकों का कुल वैकल्पिक विषय हुआ। इसके साथ साथ अंग्रेजी और हिंदी में क्वालीफाई करना जरूरी होता है जो दसवीं कक्षा के स्टैंडर्ड का प्रश्न पूछा जाता है। इसके बाद जब मेरिट में नाम आने पर साक्षात्कार के 275 अंक होते हैं।

डा अफ़रोज़ इकबाल कहना है कि निबंध , सामान्य अध्ययन की तैयारी व्यवस्थित एवं वैज्ञानिक तरीके से कराई जाएगी । साथ ही साथ एक वैकल्पिक विषय समाजशास्त्र की भी तैयारी कराई जाएगी। जो भी विद्यार्थी इच्छुक है वो इस नंबर पर 9997922069अपना नाम , पता लिख कर ग्रुप ज्वाइन कर सकता है।

उनका कहना है कि प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा दोनो के लिए एन सी ई आर टी एवं टेक्स्ट बुक पढ़ना आवश्यक है । बिना एन सी ई आर टी के कॉन्सेप्ट क्लियर करना मुश्किल होता है इसलिए एन सी ई आर टी जरूर पढ़ें। मुख्य परीक्षा के लिए एन सी ई आर टी एवं टेक्स्ट बुक को आधार बनाकर नोट्स के साथ तैयारी कराई जाएगी।

डा अफरोज इकबाल का कहना है कि ऑनलाइन होना तथा विद्यार्थियों की मदद करना समय की मांग है। अब ऑनलाइन ही नॉर्मल है क्योंकि सबके पास मोबाइल है , उत्तराखण्ड सरकार ने भी सभी विद्यार्थियों को टैब निः शुल्क प्रदान की जो विद्यार्थियों के लिए बड़ी सहूलत है बस इसका उपयोग सही दिशा में करना है। इनका कहना है कि अब हम फैसिलिटेटर ज्यादा हैं प्रोफेसर कम क्योंकि हमारा काम विद्यार्थियों को अधिक से अधिक सहूलत देना है। इसलिए हमने अपना अंदाज बदल लिया है ।

डा अफ़रोज़ एकबाल निः शुल्क ऑनलाइन कोचिंग आई ए एस , पी सी एस, आर्मी पुलिस आदि कॉम्पिटेटीव एग्जाम्स की तैयारी देश भर के विद्यार्थियों को ऑनलाइन तो कराते ही हैं ।

इसके साथ साथ अपने विषय समाजशास्त्र में सभी पेपर के लिए वीडियो कंटेंट 3 फॉर्मेट में तैयार किए हुए हैं।इन्होंने अपने चैनल पर लगभग 3000 वीडियो अपलोड कर दिया है जो विद्यार्थियों के लिए काफी लाभप्रद है।

इसके साथ साथ डा अफ़रोज़ एकबाल के कंटेंट हिंदी एवं अंग्रेजी में उनकी वेबसाइट्स पर उपलब्ध है। हिंदी की वेबसाइट www.studypoint24.com एवं onelinerstudy.com है।
साथ ही इंग्लिश वेबसाइट www.motivatives.com एवं www. governmentshiksha.com है

डा अफ़रोज़ एकबाल का कहना है कि सम्पूर्ण भारत के विभिन्न विश्विद्यालय एवं महाविद्यालय को ध्यान मे रखते हुए ऐसा मैटेरियल उनकी वेबसाइट www.study point24.com पर उपलब्ध है जो कश्मीर से कन्याकुमारी तक के विद्यार्थी इसका लाभ ले रहे हैं।

यह एक हिंदी वेबसाइट है इसमें हिंदी भाषी क्षेत्रों के विद्यार्थी के लिए समाजशास्त्र के भारत वर्ष के सभी विश्विद्यालयों एवं महाविद्यालयों के सिलेबस को सामने रख कर बनाया गया है जो अपने आप में काफी महत्वपूर्ण है। डा अफ़रोज़ एकबाल का कहना है कि विभिन्न क्षेत्रों के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों का कहना है कि लाइब्रेरी में कई बार पुस्तकों का अभाव रहता है तथा बाजार में पुस्तक समय से नहीं मिल पाती है इसी कारण विद्यार्थियों को सही मैटेरियल तैयारी के लिए नहीं मिल पाता है। यही वजह है कि ऐसा प्लेटफार्म तैयार किया गया जिससे पूरे भारत के विद्यार्थी इसका लाभ निः शुल्क ले रहे हैं।
वैसे तो इनके मैटेरियल भारत वर्ष के समाजशास्ञ के सिलेबस को सामने रखकर तैयार किया है लेकिन विषेशकर एस डी एस यू, गढ़वाल विश्विध्यालय , कुमाऊं विश्विद्यालय , पटना विश्विध्यालय, इलाहाबाद विश्विद्यालय , बनारस विश्विद्यालय , मगध विश्वविद्यालय , बिहार विश्विध्यालय , कोलकाता विश्विध्यालय, , मिथिला विश्विद्यालय आदि को ध्यान में रख कर बनाया गया है।

साथ ही साथ यह मैटेरियल IAS PCS के विद्यार्थियों के लिए जिनका वैकल्पिक विषय समाजशास्त्र है काफी लाभदायक है। जो विद्यार्थी यू जी सी नेट की तैयारी समाजशास्त्र से करना चाहते हैं उनके लिए भी काफी बेहतरीन है।

डा अफ़रोज़ एकबाल के कई विद्यार्थी नेट क्वालीफाई किए हैं और काफी विद्यार्थी उनके संपर्क में नेट और आई ए एस, पी सी एस की तैयारी कर रहे हैं। डा अफ़रोज़ एकबाल ने नेट के लिए अपने यू ट्यूब चैनल Career Guide Dr Afroze Eqbal पर नेट कोर्स साजशास्त्र भी तैयार कर चुके हैं। अपने चैनल पर बी ए एवं एम ए के विद्यार्थियों के लिए प्रत्येक पेपर पर वीडियो कोर्स बना चुके हैं।
इंग्लिश माध्यम के विद्यार्थियों की मांग के अनुरूप इन्होंने अपनी इंग्लिश वेबसाइट www. motivatives.com पर समाजशास्त्र के लगभग सभी पेपर जो देश भर के विभिन्न विश्विद्यालय एवं महाविद्यालयों के सिलेबस को सामने रख कर बनाया गया है इस से देश भर के अंग्रेज़ी माध्यम के विद्यार्थी भी काफी फायदा उठा रहे हैं। डा अफ़रोज़ एकबाल का कहना है कि इस वेबसाइट से विदेशों में भी पढ़ने वाले स्टूडेंट्स विशेषकर अमेरिका , इंग्लैंड , कनाडा, जर्मनी, जापान, फ्रांस, नाइजीरिया, जिम्बाब्वे, अफ्रीका आदि के विदेशी स्टूडेंट्स भी फायदा उठा रहे हैं जो अपने आप में बड़े गर्व की बात है।

इसके साथ ही GK GS के भी कोर्स बना चुके हैं।साथ ही साथ कई भाषाओं के भी कोर्स बना चुके हैं जो उनके चैनल पर उपलब्ध है।

डा अफ़रोज़ एकबाल द्वारा विश्व की बड़ी कोर्स क्रिएटिंग कंपनी उड़ेमी है जो संयुक्त राज्य अमेरिका की है ।इस पर दस मूक कोर्स बना चुके हैं।

इसके साथ ही डा अफ़रोज़ एकबाल द्वारा लिखी पुस्तकें अमेजन किंडल पर उपलब्ध है जिससे काफी विद्यार्थी लाभ ले सकते हैं। उनकी पुस्तक समाजशास्त्र के प्रत्येक पेपर के लिए उपलब्ध है जो पूर्णतः ऑनलाइन है। डा अफ़रोज़ एकबाल की वीडियो ऑनलाइन है, पुस्तक ऑनलाइन है जो ebook के फॉर्म में है, कोर्स ऑनलाइन है, वेबसाइट पर मैटेरियल ऑनलाइन है और ऑनलाइन निः शुल्क कोचिंग माननीय मुख्यमंत्री द्वारा अल्पसंख्यक आयोग उत्तराखंड सरकार द्वारा चलाया जा रहा है जो पूर्णतः ऑनलाइन जिससे देश के कोने कोने से विद्यार्थी फायदा उठा रहे हैं। यह अपने आप में देश में एक अलग अंदाज में काम करते हैं।

पटना विश्विद्यालय के एम एस डब्लू के प्रोफेसर डॉ संजीव श्रीवास्तव का कहना है कि समाजशास्त्र के लिए अद्भुत कार्य किया है इससे समाजशास्त्र से जुड़े लोगों को फायदा होगा। पटना विश्विद्यालय के समाजशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डा फजल अहमद ने कहा है कि मेहनत करने वाले की कभी हार नहीं होती है। मिथिला विश्विद्यालय के मिल्लत कॉलेज के डा जमशेद का कहना है कि अदिवतीय कार्य है।वीर कुंअर सिंह विश्विद्यालय के डा अखलाक का कहना है कि यह कार्य देश के लिए एक मिसाल है ।

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डोईवाला के प्राचार्य प्रोफ़ेसर एम सी नैनवाल ने शुभकामनाएं दी है और उनका का कहना है कि और भी शिक्षकों को इस तरह के कार्य करनी चाहिए । राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सतपुली के प्राचार्य प्रोफ़ेसर संजय सिंह ने बढ़ाई दी और कहा की अच्छे कार्यों को पहचान जरूर मिलती है। विभिन्न महाविद्यालय के प्राचार्य एवं प्रोफैसर ने शुभकामनाएं दी है और नई पीढ़ी को डा अफ़रोज़ एकबाल से सीखने की जरूरत है कि किस प्रकार समय निकाल कर एक उदाहरन प्रस्तुत कर रहे हैं। उच्च शिक्षा में असिस्टेंट डायरेक्टर प्रोफैसर प्रेम प्रकाश का कहना है कि डा अफ़रोज़ एकबाल द्वारा यह एक समाज को बेहतर सेवा प्रदान किया जा रहा है जो वास्तव में सेवा है। उच्च शिक्षा के असिस्टेंट डायरेक्टर डा गोविंद पाठक ने शुभकामनाएं दी हैं। डा रवि रावत , प्रोफेसर वर्मा , प्रोफेसर शुक्ला , प्रोफेसर कंचन सिंह , प्रोफेसर ब्लूरी ,डा अनिल भट्ट, डा नूर हसन , डा गुलनाज , डा मनीषा , डा अंजली वर्मा , डा रखी पंचोला , डा अनिल कुमार , डा प्रीतपाल , डा मनीषा , डा संगीता , डा खाली, डा पल्लवी मिश्रा, डा डी एन तिवारी , डा डी पी सिंह , डा नवीन मैथानी , डा प्रभा बिष्ट , डा वंदना गौड़, डा पूनम पांडे , डा वी कुकरेती , डा खाती प्रोफैसर पंत, डा पूनम , डा रेखा नौटियाल , डा मैथानी, डा कुंवर आदि ने उनको शुभकामनाएं दी हैं।

इन्हें भी पढें-

लेखपाल पेपर लीक मामले में सरकार का सख्त रुख,सात आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज

 

Must Read